सोशल डिस्टेंसिंग के साथ कार्यालय से काम करेंगे लोकसभा सचिवालय के कर्मी



कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर देश में लागू पूर्णबंदी (लॉकडाउन) में सोमवार से कुछ क्षेत्रो में शर्तों के साथ ढ़ील शुरु होने जा रही है। लोकसभा सचिवालय ने भी अपने कर्मचारियों को सोशल डिस्टेंसिंग और नियमों का पालन करते हुए कार्यालय से कामकाज करने का निर्देश दिया है। इस दौरान सचिवालय कर्मियों को अपना भोजना, पानी स्वयं लेकर कार्यालय जाना होगा और सोशल डिस्टेंसिंग समेत आवश्यक निर्देशों का पालन करना होगा। इस बारे में सचिवालय ने गत शुक्रवार को एक विस्तृत निर्देश भी जारी किया है।

सूत्रों के मुताबिक, लोकसभा सचिवालय की ओर से एक आदेश जारी कर कहा गया है कि किसी भी विभाग, ब्रांच, यूनिट और सेल के कुल कर्मचारियों की संख्या का 33 फीसदी लोग ही किसी एक कार्यदिवस में कार्यालय आएंगे और एक दूसरे से 6 फीट की दूरी पर बैठेंगे। कर्मचारियों को मॉस्क पहनने, लंचब्रेक के दौरान एक स्थान पर एकत्र न होने, सार्वजनिक स्थान पर न थूकने की सख्त हिदायत दी गई है।

इसके साथ ही निर्देश में यह भी कहा गया है कि कर्मचारी अपना भोजन और पानी साथ लेकर आएंगे, क्योंकि कैंटीन बंद रहेगी। इसके साथ ही सभी लोग एक वक्त पर ही लंच नहीं कर सकेंगे और गलियारे अथवा किसी अन्य स्थान पर इकट्ठा नही हो सकेंगे।

सचिवालय के एक अधिकारी ने बताया कि जारी निर्देश में कहा गया है कि जिन महिला कर्मचारियों के पांच वर्ष या इससे कम आयु के बच्चे हैं वह अपने सक्षम अधिकारी से अनुमति लेकर घर से काम कर सकती हैं। इसके साथ ही जो महिला कर्मी अस्वस्थ महसूस कर रही हैं वह भी अपने सक्षम अधिकारी से अनुमति लेकर घर से कार्य कर सकती हैं।

इसके अलावा संयुक्त सचिव स्तर तथा इससे ऊपर के सभी वरिष्ठ अधिकारियों को प्रत्यके कार्यदिवस में कार्यालय आने को कहा गया है। जबकि कुछ अधिकारियों को उनके वरिष्ठ अधिकारी के निर्देश अथवा आवश्यक होने पर कार्यालय आने को कहा गया है।

चार पेज के निर्देश में कहा गया है कि लोकसभा अध्यक्ष की अनुमति के लिए आवश्यक फाइलों के अलावा सभी फाइलें इलेक्ट्रॉनिक मोड में ई-ऑफिस में भेजी जाएंगी । इसके साथ ही जो अधिकारी और कर्मचारी कोरोना वायरस के कारण सील इलाके में रहते होंगे उन्हें घर से काम करने की अनुमति दी गई है।
Previous Post Next Post

.