बहन कूदी तो दो भाइयों ने भी कुएं में लगाया छलांग, और फिर चारों तरफ पसर गया मातम

नेपानगर के पास के ही गांव में बहुत दर्दनाक हादसा हुआ। परिवारिक विवाद के चलते एक युवती कुएं में कूद गई। बहन को कुएं में कूदता देख उसे बचाने के लिए दो भाइयों ने भी कुएं में छलांग लगा दी। घटना की खबर गांव में पहुंचने से सनसनी फैल गई। हल्ला-गुल्ला मचा तो गांववाले एकत्रित हो गए। ग्रामीणों की मदद से सभी को निकालने की कोशिश शुरू की गई।
खकनार क्षेत्र के ग्राम बोरीखेड़ा निवासी 22 वर्षीय सुशीला पति मुन्नालाल सोमवार शाम 7:30 बजे पारिवारिक विवाद के चलते कुएं में कूद गई। बचाने के लिए बड़ा भाई बृजेश पिता बाबूराव 25 वर्षीय कुएं में कूदा। कुछ देर तक बाहर नहीं आने के बाद दूसरा भाई अजय 18 वर्षीय भी कुएं में छलांग लगा दी। छोटा भाई अजय बहन को लेकर पत्थर के सहारे किनारे पर रुके रहे। ग्रामीणों ने खटिया डालकर रस्सी के सहारे दोनों को बाहर निकाला। दोनों के घायल होने पर जिला अस्पताल पहुंचाया।

ग्रामीणों ने लंबे समय तक कुएं में बृजेंद्र की तलाश की, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिला। घटना के अगले दिन नेपानगर और बुरहानपुर से गोताखोर बुलवाए गए। सुबह 11 बजे से एक घंटे तक शव की तलाश करते रहे। कुएं से बड़े भाई का शव मिला तो उसे खटिया के माध्यम से बाहर निकाला गया। दोपहर एक बजे शव को पोस्टमार्टम के लिए लाया गया। दोपहर 3 बजे पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंपा गया। शाम 5 बजे शव का गांव के मुक्तीधाम पर अंतिम संस्कार किया गया।
Previous Post Next Post

.