फोरलेन निर्माण में हुआ हादसा, भूस्खलन में दब गया पोकलेन ऑपरेटर

कालका-शिमला नेशनल हाईवे पर चल रहे फोरलेन निर्माण कार्य के दौरान मंगलवार को एक बड़ा हादसा हो गया है। रबौण में मुख्य चौक पर अचानक भारी भरकम मलबा खिसक कर पोकलेन मशीन पर आ गिरा। हादसे में मशीन ऑपरेटर मलबे की जद में आ गया और अंदर ही फंस गया। उसे बाद में मशीन के कांच तोड़कर बाहर निकाला गया। ऑपरेटर इस हादसे में घायल हो गया है। ऑपरेटर की पहचान संदीप निवासी गुरदासपुर पंजाब के रूप में हुई है। 
दोपहर करीब दो बजे हुए इस हादसे के बाद पहाड़ी से शाम तक धीरे-धीरे मलबा गिरता रहा। प्रशासन और पुलिस ने मौके पर अलर्ट जारी कर लोगों को हादसे वाली जगह न जाने की हिदायत दी है। साथ ही पुलिस ने भी कंपनी कर्मचारियों से भूस्खलन बंद होने तक काम शुरू न करने को कहा है। हादसे की वजह से पहाड़ी पर बने बहुमंजिला भवनों को भी खतरा पैदा हो गया। यहां फोरलेन निर्माण के लिए मार्ग को चौड़ा करने के दौरान कटिंग की गई है।

 इस कटिंग की वजह से लगातार भूस्खलन जारी है। जिससे पहाड़ी पर बने मकानों व एक टावर को खतरा पैदा हो गया है। एनएचएआई प्रबंधन ने जहां कंकरीट की सुरक्षा दीवार बनाने के निर्देश दिए थे। जिसके बाद निर्माता कंपनी यहां सुरक्षा दीवार बनाने के कार्य में लगी है। इस बीच पोकलेन ऑपरेटर पहाड़ी खोद कर मलबा एक ट्रक में भर रहा था। अचानक पहाड़ी से भूस्खलन शुरू हो गया। इस दौरान चालक स्टार्ट ट्रक छोड़ मौके से भाग निकला। जबकि पोकलेन ऑपरेटर मशीन समेत मलबे में दब गया।
Previous Post Next Post

.