जीजा के साथ मिलकर उसने अपने ही पति को मार डाला, जानिए फिर क्या हुआ...

मेडिकल के जागृति विहार में होटल मैनेजर की पत्‍‌नी ने जीजा के साथ मिलकर हत्या कर दी। गला दबाकर मारने के बाद उसके शव को लेकर अस्पताल तक भी पहुंच गए थे। पुलिस की जांच में सामने आया कि मृतक की पत्‍‌नी दूसरी शादी करना चाहती थी। मैनेजर उसका पीछा नहीं छोड़ रहा था। मृतक के पिता की तरफ से पत्‍‌नी, उसके जीजा, मम्मी और पापा को नामजद किया है। पुलिस ने हत्यारोपित पत्‍‌नी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। परीक्षितगढ़ के रहने वाले लोकेश गिरी के बेटे मयंक गिरी की शादी तीन मार्च को चंद्रिका उर्फ शिल्पी पुत्र राम किशोर निवासी शास्त्रीनगर नौचंदी के साथ हुई थी। 
शिल्पी अपने पिता के साथ स्कूल चलाती है, जबकि मंयक गिरी एक होटल में मैनेजर था। शादी के बाद मंयक अपनी पत्‍‌नी शिल्पी के साथ जागृति विहार में किराए का मकान लेकर रहने लगा था। एसओ कुलवीर सिंह ने 25 जनवरी को मंयक को घायल अवस्था में शिल्पी और उसका जीजा ललित पहले आनंद अस्पताल और फिर लोकप्रिय में लेकर पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। मयंक के पिता ने पत्‍‌नी शिल्पी, उसके जीजा ललित और मम्मी और पापा के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। 

एसओ कुलवीर सिंह ने बताया कि मयंक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या की पुष्टि हुई है। जांच में सामने आया कि शिल्पी दूसरी शादी करना चाहती थी। मयंक ने फिलहाल उसकी चक्कर में अपनी नौकरी भी छोड़ दी थी। मयंक ने शिल्पी को अलग करने से इन्कार कर दिया था। इसी को लेकर शिल्पी ने अपने जीजी ललित के साथ मिलकर मयंक की गला दबाकर हत्या कर दी। उसके बाद दोनों घबरा गए। ललित के शव को उठाकर अस्पताल तक ले गए। ललित सूचना विभाग में कर्मचारी है। पुलिस ने शिल्पी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया, जबकि ललित की तलाश में ताबड़तोड़ दबिश डाली जा रही है।
Previous Post Next Post

.