दुर्घटना में घायल हो गया यूवक, इलाज के दौरान ही तोड़ा दम

दुर्घटना में घायल युवक की मौत के बाद गांव वाले भड़क गए। प्रतापपुर चेकपोस्ट पर लाश रखकर प्रतापपुर-मैरवा मार्ग जाम कर दिया। पुलिस पर दुर्घटना के बाद कब्जे में लिए गए वाहन को छोड़ने का आरोप लगाते हुए नारेबाजी करने लगे। तहसीलदार ने एसपी से मोबाइल पर वार्ता कराया, जब लोगों का गुस्सा शांत हुआ।
बनकटा थाने के ग्राम चकरवा टोला प्रेम राय निवासी विकास बैठा (22), अरविंद गुप्ता (22) और अजीत यादव (23) एक ही बाइक से छह दिन पूर्व जा रहे थे। बासोपट्टी प्राथमिक स्कूल के पास सामने से आ रही कार से बाइक टकरा गई। गांववालों ने कार को पुलिस के हवाले कर दिया। विकास बैठा के सिर में चोट होने के कारण उसका इलाज लखनऊ में हो रहा था, जहां रविवार को मौत हो गई। अरविंद गुप्ता और अजीत यादव का इलाज मेडिकल कॉलेज में चल रहा है। पोस्टमार्टम के बाद शव जब सोमवार घर पहुंचा तो गांववाले भड़क गए और शव को प्रतापपुर पुलिस चौकी पर रखकर जाम लगा दिया। 

प्रतापपुर बाजार के दुकानदारों भी दुकानें बंद कर सड़क पर आ गए। पुलिस पर दुर्घटना में शामिल कार को छोड़ने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग करने लगे। पांच घंटे बाद पहुंचे तहसीलदार अश्विनी कुमार ने एसपी से मोबाइल पर वार्ता कराई। एसपी कार को कब्जे में लेने और केस दर्ज करने का आश्वासन दिया तो लोगों ने जाम खत्म किया और शव का दाह संस्कार हुआ। गौरतलब है कि मां-बाप का विकास इकलौता बेटा था। वह श्रीकृष्ण इंटर कॉलेज हाता में कक्षा 12 का छात्र था।
Previous Post Next Post

.