नवरात्रि समाप्त होने से पहले जरूर करे ये 7 काम, साल भर रहेगी माता की कृपा

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं. नवरात्रि का त्यौहार अब ख़त्म होने की कगार पर हैं. ऐसे में माता को प्रसन्न करने का आपके पास कुछ ही समय शेष रह गया हैं. आज हम आपको 7 ऐसे काम बताएंगे जिन्हें पूर्ण कर लेने पर माता रानी प्रसन्न होगी और साल भर तक आपके ऊपर अपनी कृपा दृष्टि बनाए रखेगी. इस तरह इस साल यदि आप कोई नया काम जैसे शादी, घर का निर्माण, नौकरी, परीक्षा, दुकान का उद्घाटन इत्यादि कर रहे हैं तो उसमे कोई भी बाधा नहीं आएगी.
1. कपड़े दान करे: आपको यह कार्य दो चरणों में करना होगा. पहले चरण में आपको किसी मंदिर में माता को लाल रंग की चुनरी चढ़ाना होगी. दुसरे चरण में आपको किसी गरीब महिला को लाल रंग की साड़ी दान करनी होगी. ऐसा करने से आपके घर में दरिद्रता नहीं आएगी.
2. जानवर को खाना खिलाए: इस कार्य में आपको किसी जानवर जैसे गाय या कुत्ता को भोजन करवाना होगा. हम अक्सर घर में बचा बासी खाना जानवरों को दे देते हैं. लेकिन इस बार आपको ताज़ा खाना बनाना हैं और किसी एक जानवर को पेट भर भोजन करवाने के बाद ही स्वयं को भोजन करना हैं.
3. धातु का कछुआ ब्राह्मण को दे: आप बाजार से किसी भी धातु जैसे चांदी, सोना या पीतल का बना एक कछुआ ले आए. इस कछुए को माता की चौकी में रख इसकी पूजा करे और फिर किसी ब्राह्मण को दान कर दे.
4. कौआ को दाने डाले: अपनी बुरी किस्मत को दूर भगाने के लिए आपको कौआ का पेट भरना होगा. इसके लिए आप कौआ को दाने या खाने कि कोई सामग्री दे सकते हैं. इस काम को करने के बाद एक बार स्नान कर ले और माता के हाथ जोड़ ले.
5. कन्या भोजन: कन्याओं को माता का स्वरुप माना जाता हैं. इसलिए आपको नवरात्री में कम से कम 9 कन्याओं को भोजन अवश्य करवाना चाहिए. भोजन करवाने के बाद उन्हें कोई वस्तु उपहार में दे.
6. दुर्गा चालीसा का पाठ: वैसे तो नवरात्री मैं बहुत से लोग दुर्गा चालीसा पढ़ते हैं लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो ऐसा नहीं करते हैं. ऐसे में कम से कम एक बार सच्चे मन से दुर्गा चालीसा का पाठ अवश्य कर ले.
7. सुपारी चढ़ाए: यदि आप चाहते हैं कि माँ की कृपा आपके ऊपर अगली नवरात्रि तक बनी रहे तो माता को 3 सुपारी चढ़ाए और उसका हल्दी कुकू से पूजन करे. अब इस सुपारी को अलग अलग घर के तीन स्थानों पर कम से कम अगली नवरात्रि आने तक रखे. साल भर माता आप पर आशीर्वाद बनाए रखेगी.
Previous Post Next Post

.