लापता महिला 7 साल बाद पति व बच्चों के संग मिली, जानिए पूरी खबर

सात वर्ष से लापता महिला जब अपने घर वापस लौटी तो उसके साथ उसके पति व दो बच्चे भी थे। उसने बिजनौर निवासी व्यक्ति से विवाह कर लिया था। आपरेशन स्माइल टीम ने बेटी को उसके परिवार से मिलाया तो परिवार के आंखों में खुशी के आंसू छलक आए। उन्होंने बच्चों के साथ उसे गले से लगा लिया। आपरेशन स्माइल टीम की पहल का परिवार के लोगों ने स्वागत किया है।
पुलिस मुख्यालय के निर्देशानुसार सम्पूर्ण राज्य मे चलाये जा रहे आपरेशन स्माईल अभियान के तहत ऊधमसिंह नगर खटीमा टीम को जब सात वर्ष से नानकमत्ता के किशनपुर गांव से लापता 22 वर्षीय लीला पुत्री गणेश चंद्र की खोजबीन शुरू की तो पता लगा कि गुमशुदा लीला देवी ने 2013 में घर से भागकर किसी व्यक्ति से शादी कर ली है। इस पर आपरेशन स्माईल टीम द्वारा गुमशुदा के मोबाइल फोन को सर्विलांस पर लगाया तो उसकी लोकेशन देहरादून में मिली। टीम लीला देवी की खोज में जुट गई। आठ जनवरी को लीला देवी को स्माइल टीम ने देहरादून के कारगी चौक से बरामद कर लिया। पूछताछ में बताया कि घर से भागने के बाद उसने संजय सिंह निवासी बड़ापुर थाना नगीना जिला बिजनौर उत्तर प्रदेश से प्रेम विवाह कर लिया था। 

उसके प्रेम विवाह से परिवार वाले खुश नहीं थे, इसलिए वह घर नहीं जा सकी थी। शादी के बाद उसकी दो बेटियां पांच वर्षीय माही तथा तीन वर्षीय दिया हैं। वह अपने पति व परिवार के साथ खुश है। स्माइल टीम ने लीला देवी की बात उसके परिजनों से करवाई तो उन्होंने भी उसे घर आने का खुले मन से न्यौता देकर स्माइल टीम का आभार जताया। टीम पूर्व में वर्ष 2012 में गुमशुदा बालक दस वर्षीय महेश सिंह पुत्र अशोक सिंह निवासी ग्राम धरमपुर जसपुर को भी बरामद कर परिजनों के सुपुर्द कर चुकी है। टीम में एसआइ पूरन सिंह, का. मोहम्मद ईशाक, विजय कुमार, हरीश चंद्र, मनीषा शामिल हैं।
Previous Post Next Post

.