पुलिस ने छापा मारकर किया बड़ी कार्रवाई, 7 लाख का नकली डाबर आंवला तेल किया गया बरामद

आजकल बाजारों में ब्रांडेड डाबर आंवला तेल की भारी बिक्री को देखते हुए कई लोग नकली तेल को हूबहू शीशियों में भरकर एक जैसे दिखने वाले लेबल लगाकर नकली तेल को बाजार में खपाने में लगे हुए हैं। ऐसे ही एक नकली डाबर आंवला तेल के कारोबार का भंडाफोड़ हुआ है। हालांकि इस मामले में जांच अधिकारी ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस ने गुमनाम तहरीर ली है जबकि एक महिला मौके पर पकड़ी गई थी जबकि उसका भाई फरार हो गया था।
मामला थाना पाली स्थित कुरयाना वार्ड जिला परिषद इंटर कॉलेज के पास का है। मोहल्ले में जब पुलिस के जवानों की चहल कदमी हुई तब किसी की समझ में कुछ नहीं आया, लेकिन थोड़ी ही देर में जब एक घर से एक महिला के साथ नकली डाबर आंवला तेल से भरी हुई। हूबहू दिखने वाली शीशियां, रेपर, खाली शीशियां पुलिस ने बरामद की और जब उक्त पूरे नकली माल को लेकर घर के बाहर रखा तब पूरा मामला स्पष्ट हो गया। इस छापामार कार्रवाई में पुलिस ने लगभग सात लाख रुपये का नकली डाबर आंबला तेल पकड़ा। 

इस छापामार अभियान में थाना पाली पुलिस के साथ कम्पनी के मुख्य जांच अधिकारी जीतू शर्मा भी शामिल रहे जिन्होंने नकली तेल होने की पुष्टि की। इस मामले में कंपनी के मुख्य जांच अधिकारी जीतू शर्मा ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उनसे अज्ञात के नाम तहरीर ले ली है। जबकि मौके से एक मुन्नी नाम की महिला को नकली माल के साथ पकड़ा था और मौके का फायदा उठाकर एक आदमी वहां से फरार हो गया था। 

इस मामले में आम जनमानस में चर्चा है कि पुलिस मामले को सुलटाने के उद्देश्य अज्ञात के नाम मामला दर्ज करने की बात कर रही है जबकि मामला उसी महिला पर दर्ज होना चाहिए जो इस कारोबार में संलिप्त थी और जिसकी घर से माल बरामद हुआ था। हालांकि मुख्य कारोबारी पुलिस की पकड़ से दूर है हो सकता है महिला उस व्यक्ति के बारे में कुछ बताएं लेकिन फिलहाल उस महिला ने अभी अपना मुंह नहीं खोला है।
Previous Post Next Post

.