उखड़ गई पटरी, आ रही थी ट्रेन... और 67 वर्षीय सिख ने ऐसे रुकवा दिया ट्रेन, जानिए

शाजापुर जिला मुख्यालय से २० किमी दूर हाइवे से निकली रेलवे क्रासिंग पुलिया को टैंकर रखे कंटेनर ने क्षतिग्रस्त कर दिया। ऐसे में यहां से ट्रेन गुजरने पर बड़ा हादसा हो सकता था। दुर्घटना के बाद ही एक मालगाड़ी पटरी पर आने लगी ऐसे वक्त में एक सिख ने भागकर अपनी पगड़ी खोलकर मालगाड़ी को रोका और बड़े हादसे को टाल दिया। बता दें कि आगरा-मुंबई राजमार्ग पर उकावता के पास बनी रेलवे क्रांसिंग के नीचे से रविवार सुबह ७.४० बजे एक कंटेनर टेंकर लेकर गुजर रहा था, लेकिन कंटेनर पर रखा टैंकर पुलिया से बुरी तरह से टकरा गया।  

ऐसे में रेलवे पुलिया पर बनी पटरी में गेप बढ़ गई और अन्य हिस्से भी क्षतिग्रस्त हो गए। हादसे के पांच मिनट पहले ही साबरमती एक्सप्रेस सारंगपुर के लिए गुजरी थी, नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था। इधर घटना के आधे घंटे बाद ही इसी ट्रैक पर एक माल गाड़ी आ रही थी, पास ही 33 केवी रेल विद्युत का काम कर रहे 67 वर्षीय गुरुबक्श सिंह ने हादसे का अंदेशा जताया और अपनी लाल साफी को लहराकर रेल की दिशा में दौड़ लगाकर मालगाड़ी को रोका। 

जिससे बड़ा हादसा टल गया। गुरुबक्श सिंह ने बताया कि वह ६७ वर्ष के है, जांंजगिर चांपा छतीसगढ़ के रहने वाले हैं। हादसे की गंभीरता का अंदाजा लगाकर एक नौजवान सा जोश आ गया और रेल की दिशा में साफी को लहराकर दौड़ लगा दी। गुरुबक्श ने बताया पता नहीं मुझमें दौडऩे की इतनी शक्ति कैसे आई। 
Previous Post Next Post

.