जेल से छूटने के बाद 2 लड़को ने फिर से किया गलत काम, वारदात को अंजाम देकर छिप गए थे घर में, पुलिस ने किया गिरफ्तार

अंबिकापुर जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय का चपरासी बुधवार की दोपहर खाना खाने साइकिल से घर जा रहा था। रास्ते में बरेजपारा तालाब के पास स्कूटी सवार 2 युवक पीछे से पहुंचे और चपरासी की मोबाइल लूट कर फरार हो गए। उसने घटना की शिकायत कोतवाली में दर्ज कराई। शिकायत पर पुलिस ने सुराग जुटाकर दोनों आरोपियों को उनके घर से गिरफ्तार कर लिया। दोनों पूर्व में भी चोरी के मामले में जेल जा चुके हैं। दोनों कुछ दिन पूर्व ही जेल से छूटकर आए थे। शहर के मोमिनपुरा अयान मार्ग निवासी अब्दुल अंसारी जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय अंबिकापुर में चपरासी है। 
वह बुधवार की दोपहर करीब 2 बजे कार्यालय से खाना खाने साइकिल से घर जा रहा था। रास्ते में बरेजपारा तालाब के पास पीछे से स्कूटी सवार 2 युवक पहुंचे और उसकी मोबाइल लूट कर फरार हो गए। जब तक वह कुछ समझ पाता, युवक उसकी आंखों से ओझल हो चुके थे। फिर अब्दुल ने इसकी शिकायत कोतवाली में दर्ज कराई। शिकायत पर पुलिस ने तत्काल कार्रवाई शुरू कर दी। पुलिस मामले की जांच करने घटनास्थल पर पहुंची और लोगों से पूछताछ की तो आरोपियों के संबंध में अहम सुराग मिले। 

सुराग के आधार पर पुलिस ने घर में ही छिपे आरोपी मायापुर निवासी 21 वर्षीय अरमान मंसूरी पिता मुर्तजा अंसारी व जरहागढ़ निवासी 22 वर्षीय धीरज सोनी पिता राजेश्वर सोनी को गिरफ्तार कर लूट की मोबाइल भी बरामद की। कार्रवाई में टीआई विलियम टोप्पो, अरुण गुप्ता, सतेंद्र दुबे व मनीष सिंह व अन्य पुलिसकर्मी शामिल रहे। दोनों आरोपी पूर्व में भी चोरी के मामले में जेल जा चुके हैं। पिछले वर्ष दोनों ने मायापुर में विक्टोरिया स्कूल के पास एक घर में चोरी की घटना को अंजाम दिया था। इस मामले में पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। कुछ दिन पूर्व ही दोनों जेल से छूटे थे, इसके बाद फिर उसी धंधे में उतर गए।
Previous Post Next Post

.