अमेरिका भेजने का सपना दिखा बिकवा दिए 2 एकड़ जमीन, 13 देशों में बिना पासपोर्ट घुमाया...

किसान के बेटे को विदेश में पांच लाख रुपये प्रतिमाह कमाने के सब्जबाग दिखाकर कबूतरबाज ने पौने दो एकड़ जमीन बिकवा दी। 13 देशों में बिना पासपोर्ट घुमाकर स्वजनों 22 लाख रुपये ठग लिए। अमेरिकी बॉर्डर पुलिस ने पकड़ लिया। जेल में सात माह की कैद काटने के बाद अमेरिकी कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने युवक को स्वदेश भेज दिया। सफीदों के पाजू खुर्द गांव के शक्ति सिंह ने बताया कि उसका बेटा सोहित अक्टूबर 2018 में धनसौली गांव स्थित मामा सुरेंद्र के घर गया था। वहां जगदीश नाम के व्यक्ति ने उसे 40 लाख रुपये में अमेरिका भेजने के सब्जबाग दिखाए। आरोपित के भाई ओमप्रकाश और भांजे दीपक ने कई युवकों को विदेश में बसाने का दावा किया। 22 लाख रुपये एडवांस और 18 लाख नौकरी मिलने के बाद देने का सौदा तय हो गया।
कबूतरबाजों के झांसे में आकर उसने अपनी पौने दो एकड़ जमीन बेच दी। पांच लाख रुपये आरटीजीएस और 17 लाख रुपये आरोपितों को नकद दिए। 1 जनवरी 2019 को आरोपित जगदीश ने सोहित और दो अन्य युवकों को दिल्ली एयरपोर्ट से इटोपियन भेज दिया। 4 माह तक एजेंट उसे ब्राजील, लीमा, पेरु, इक्वाडोर, कोलंबिया, पनामा, निकारगुआ, होंडुरास, ग्वाटेमाला व मैक्सिको में कभी बस तो कभी हवाई जहाज से सफर कराते रहे। विरोध करने पर सोहित के साथ मारपीट की जाती। एजेंटों ने उसका फोन और 400 अमेरिकी डॉलर भी छीन लिए। बाद मे मैक्सिको के तिजवाना में बंदूक दिखाकर गोली मारने की धमकी देते हुए उसे अमेरिकी बॉर्डर कूदा दिया था। यहां पुलिस ने सोहित को पकड़ लिया। 

पंजाब का देवा है सरगना, मैक्स बन छिपाई पहचान
सोहित को मैक्सिको में मैक्स नाम का एजेंट मिला। आरोपित ने खुद को पूरे गिरोह का सरगना बताया। कुछ समय बाद उसे पता चला कि मैक्स का असली नाम देवा है और वह पंजाब का रहने वाला है। देवा मैक्सिको सिटी में रहता है। वह रोजाना 15-20 लोगों को बॉर्डर क्रॉस कराने का काम करता है। नकद भुगतान लेते हैं आरोपित युवाओं को अमेरिका भेजने की एवज में आरोपित अधिकतर राशि नकद में ही लेते हैं, ताकि बाद में उनके खिलाफ कोई सबूत ना मिले। 

आरोपितों का प्रॉपर्टी डीलर और लकड़ी का व्यवसाय है। ठगी के रुपयों को व्यवसाय का मुनाफा दिखाकर आरोपित पैसा सरकारी तरीके से उनका दिखा देते हैं। मित्तल मॉल वाला ऑफिस है अड्डा। मित्तल मॉल के टॉप फ्लोर पर आरोपित ओमप्रकाश और दीपक ने कई साथियों संग मिलकर दफ्तर खोल रखा है। कई खुबसूरत लड़कियों को रिसेप्शन पर बैठाकर युवाओं को बहकाते हैं। वे युवाओं को चंद हफ्तों के भीतर अमेरिकी डॉलरों में कमाई करके विदेशी लड़कियों से शादी कराने तक के ख्वाब दिखाते हैं। 
Previous Post Next Post

.