19 सितम्बर से पहले अगर दिख जाती है इनमें से 1 चीज़ तो आप पर साक्षात है पितृ देव की कृपा

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि श्राद्ध का महीना शुरू हो गया है और हिंदुधर्म में शास्त्रों के अनुसार बताया गया है कि पितृ ऋण से मुक्ति के लिए यानि श्राद्ध कर्म का वर्णन किया गया है। पूरे साल में जो भाद्रपद शुक्लपक्ष पूर्णिमा से लेकर अश्विन कृष्णपक्ष अमावस्या तक का समय होता है उसे पितृपक्ष या श्राद्ध पक्ष कहा जाता है। शास्त्रों के अनुसार पितरों के लिए किया गया श्राद्ध आपके परिवार के उन मृतकों को तृप्त करता है जो पितृलोक की यात्रा पर हैं। इस तरह अपने पितरों को श्राद्ध के माध्यम से दी गई वस्तु पहुंचती है और वे श्राद्ध करने वाले को आशीर्वाद देते हैं।

ये रहे वो संकेत

कहा जाता है कि इस दौरान पितृ के लिए बनाई गई सारी चीजें उनके पास सीधे जाती है और पितृ आपकी सेवा से अगर प्रसन्‍न होते हैं तो आपके घर में सुख शांति व लक्ष्‍मी आती है। वहीं बताया गया है कि इस काल में अगर आपको कुछ ऐसे संकेत मिलते हैं तो आप समझ जाइए कि आपके पितृ आपसे खुश है।
जिन लोगों के अपने माता पिता से संबंध अच्‍छे होते हैं और घर में कभी किसी व्‍यक्ति की अचानक मृत्‍यु न हुई हो तो ऐसे लोगों के परिवार पर पित्रों की विशेष कृपा होती है।
अमावस्‍या या फिर उस तिथि के आस पास अगर आपको विशेष लाभ होता है या फिर परिवार में कोई नई खबर मिलती है तो समझ जाएं कि आपको ये सफलता आपके पितृ ने दिलाई है।
कई बार आपके काम में रूकावट आती है जिसे आपने कभी सोचा भी न हो तो अगर आप ऐसे में अपने घर के किसी मृत व्‍यक्ति को याद करते हैं तो आपकी रूकावट अपने आप हट जाती है।
अगर आपको सपने में पितृ दिखाई देते हैं या फिर आर्शीवाद देते नजर आते हैं तो समझ जाइए कि पितृपक्ष आपके लिए शुभ होता है।
वैसे शास्‍त्रो में तो कहा गया है कि इन दिनों में नए सामान नहीं खरीदने चाहिए लेकिन अगर आपको इस काल में अचानक धन की प्राप्ति हो तो समझ जाए ये कार्य आपके पितृ के कारण हुआ है।
Previous Post Next Post

.