अब सभी वाहनों में लगेगा हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट, न लगवाने पर 10 हजार का है जुर्माना, गाड़ी होगी जब्त

अगर आपका वाहन पुराना है तो आपके लिए एक बड़ी खबर है। उत्तर प्रदेश में एक अप्रैल 2019 के बाद खरीदे गए सभी वाहनों पर डीलरों की ओर से हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवाई जानी है। ऐसा न करने पर दस हजार का जुर्माना व गाड़ी जब्त कर ली जाएगी। यह प्रक्रिया उत्तर प्रदेश में शुरू हो चुकी है, जो अब सभी वाहनों पर लागू होगी। शासन की मुहर के बाद संभागीय परिवहन अधिकारी डीलर के साथ बैठक कर इस पर अंतिम निर्णय लेंगे। लखनऊ में करीब लाख पुराने वाहन इसकी जद में जाएंगे। नए वाहनों में यह नंबर प्लेट लगाकर दी जा रही है।
वाहन निर्माता व एजेंसी नई गाडिय़ों की तरह बनाए गए ऑनलाइन पोर्टल को विकसित कर फॉर्म एक को अपग्रेड करेगा। वहीं ऑनलाइन ही इसका पूरा विवरण डीलर तक पहुंचेगा। डीलर कागजात की जांच करेगा। वह वाहन-4 की मदद ले सकता है। सॉफ्टवेयर पर विवरण मैच न करने पर एसएमएस या अन्य साधनों से सूचित किया जाएगा। कागज की गहन पड़ताल होगी। चालान, जुर्माना, आरसी निलंबन तो नहीं हुआ है। तभी ऑनलाइन ओके होगा। शोरूम पर स्पष्ट रूप से देय फीस दर्ज रहेगी। फीस की रसीद और प्रिंट लेने की भी सुविधा होगी। फीस के बाद स्लॉट मिलेगा। पोर्टल पर तिथि का चयन कर सकेंगे। उसके बाद ओटीपी नंबर जेनेरेट होगा। तय समय पर वह संबंधित डीलर या एजेंसी धारक से संपर्क कर वाहन स्वामी को हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगाने के लिए बुलाएगा।

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट बहुत फायदेमंद है। इससे वारदातों और हादसों पर लगाम लगेगी। चौंक गए जानकर। लेकिन ये सच है। क्रोमियम होलोग्राम वाले हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट में सात डिजिट का लेजर कोड यूनीक रजिस्ट्रेशन नंबर होता है। इस नंबर के जरिये किसी भी हादसे या आपराधिक वारदात होने की स्थिति में वाहन और इसके मालिक के बारे में तमाम जानकारियां उपलब्ध होंगी। नंबर प्लेट पर आईएनडी लिखा होता है, साथ ही क्रोमियम प्लेटेड नंबर और इंबॉस होने की वजह से नंबर प्लेट को रात के वक्त भी वाहनों पर कैमरे के जरिये नजर रखना संभव होगा। कई बार अपराधी वाहनों के रजिस्ट्रेशन नंबर के साथ छेड़छाड़ कर भी फायदा उठा लेते थे, लेकिन हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट पर ऐसा करना संभव नहीं होगा।
Previous Post Next Post

.